बिहार की बोलियां/भाषाएँ

बिहारियों से अक्सर राज्य के बाहर पूछा जाता है: “क्या आप बिहारी बोलते हैं?”, एक ऐसा सवाल जो उन्हें अजीब लग सकता है। आम धारणा के विपरीत, ‘बिहारी’ जैसी कोई भाषा नहीं है और बिहार के सभी लोग भोजपुरी नहींबोलते हैं। जबकि हिंदुस्तानी-हिंदी और उर्दू…

Son of Bihar topped in UPSC 2020

यूपीएससी(UPSC) में बिहार के लाल ने एक बार फिर कमाल किया है. बिहार के कटिहार जिले के शुभम कुमार(Shubham Kumar) ने UPSC परीक्षा में टॉप किया संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) ने शुक्रवार को सिविल सेवा परीक्षा-2020 का परिणाम घोषित कर दिया है। इसबार यूपीएससी…

A Bihari who won of all highest Indian civilion awards :Shehnai Maestro

एक बिहारी जिसने सभी सर्वोच्च भारतीय नागरिक पुरस्कार जीते: शहनाई उस्ताद बिस्मिल्लाह खान, मूल नाम कमरुद्दीन खान, का जन्म 21 मार्च, 1916, डुमरांव, बिहार,भारत में हुआ था।विश्व प्रसिद्ध शहनाई वादक उस्ताद बिस्मिल्लाह खान का जन्म 21 मार्च, 1916 को डुमरांव,बिहार में हुआ था। उनके पिता…

First cardilologist of India was a Bihari

Bihar ने दिया था India को पहला Cardiologist डॉ श्रीनिवास का जन्म 1919 में बिहार के समस्तीपुर जिले के बिरसिंहपुर गाँव में एक जमींदार परिवार में हुआ था।उन्होंने समस्तीपुर जिले के किंग एडवर्ड हाई स्कूल में प्राथमिक शिक्षा प्राप्त की और बाद में 1936 में…

Areraj ka Someshwar mandir

मोतिहारी का अरेराज का शिवमंदिर सोमेश्वर नाथ महादेव मंदिर ऐतिहासिक पृष्ट्भूमि :- शिव के एक ऐसे मंदिर के बारे में बताएंगे जिसे चंद्र देव ने खुद स्थापित किया था. पूर्वी चंपारण के अरेराज में बने ऐतिहासिक सोमेश्वर नाथ महादेव मंदिर की जिसकी ऐतिहासिकता को किसी…

Happy Krishna Janmashtami

Happy Krishna Janmashtami “आनंद उमंग भयो, जय हो नन्दलाल की , नन्द के आनंद भयो, जय कन्हैया लाल की” कृष्णजन्माष्टमी की बहुत सारी शुभकामनायें |

Indian currency signed by a Bihari : LAXMI KANT JHA

“देश की आर्थिक नीतियों के निर्माता,विश्वविख्यात प्रशासक,राजनयिक, अर्थशास्त्री और अंतिम समय तक अपने काम के प्रति पूरी तरह प्रतिबद्ध रहे।” श्री लक्ष्मी कांत झा (LAXMI KANT JHA), का जन्म 22 November 1913,अपने बिहार के दरभंगा जिले में हुआ था | ।इन्होने अपनी शिक्षा बनारस हिन्दू…

Kali Temple in Bakhorapur Bihar (Bhojpur) Ara

शक्ति रूपेण संस्थिता – बखोरापुर काली मंदिरइतिहास :- काली मंदिर ट्रस्ट के सचिव के अनुसार 1862 मे भयंकर हैजा फैला हुआ था जिसमे लगभग पांचसौ ( 500 ) से अधिक लोगो की मौत हो गई थी , तभी इस गांव मे एक साधु का प्रवेश…